हर सेवक को सलाम

  सेवा से बढ़कर कुछ नहीं, सालों पुरानी सीख है, शुक्रिया न करें हम तुमको, कोई न ऐसी तारीख़ है। ज्ञान के इस सागर में, ये नाव तुमसे है बनी, सैर जिसमें हम सब करें, तकलीफ जिससे हो नहीं। सेनापति सा रूप है, चौकन्ना रहते हर पल, चैन की नींद […]